Dhanteras Puja Vidhi – धनतेरस पूजा का सही समय 2022

क्या आप भी जानना चाहते है धनतेरस पूजा विधि, Dhanteras Puja Vidhi in Hindi का सही समय के बारे में तो आप एकदम सही जगह पर आये है यहाँ विस्तारपूर्वक आपको जानकारी प्राप्त होगी और इसके सही और समय के बारे में बताया जायेगा। तो चलिए पाठकों शुरू करते हैं।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Dhanteras Kab Hai – धनतेरस पूजा का समय

दोस्तों आपको यहाँ पर बताना चाहूंगा कि यह पर्व कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष यानि त्रियोदशी तिथि को मनाया जाता है और यही से दीपावली ( Diwali 2022 ) के इस पांच दिनों की शुरुवात भी हो जाती है। हमारे भारतीय परंपरा में इस दिन धन और कुबेर के के देवता की पूजा की जाती है।

शास्त्रों के अनुसार इसी दिन भगवान धन्वंतरि देव का जन्म हुआ था। इस वजह से इसे धन्वंतरि जयंती और धन त्रयोदशी के नाम से भी जाना जाता है। धनतेरस पर सोना, चांदी और बर्तन समेत नए सामान की खरीद करना शुभ माना गया है। धनतेरस कब मनाया जाएगा, क्या है संयोग और धनतेरस पूजा ,Dhanteras Puja Vidhi in Hindi कैसे करनी है, आइए इसके बारे में जानते हैं.

Dhanteras Shubh Muhurat 2022 – धनतेरस का शुभ मुहूर्त 

पंचांग में इस वर्ष बताया गया है कि धनतेरस का त्योहार 23 अक्टूबर, 2022 रविवार को पड़ेगा। दिवाली से एक दिन पहले धनतेरस का त्यौहार खुशियों के साथ मनाया जायेगा। धन और कुबेर के देवता के  आगमन की प्रार्थना की जाती है और इस दिन घर में पूजा-अर्चना की जाती है। इस दिन दीप प्रज्ज्वलित किया जाता है।

धनतेरस पूजा – Dhanteras Puja Vidhi in Hindi – शुभ मुहूर्त

कई लोग इस बात को लेकर काफी परेशान है कि इस बार धनतेरस कितनी तारीख को है और किस समय पर मनाया जायेगा आप इस बात से इसलिए कंफ्यूज है क्यूंकि कैलेण्डर (Calendar) में यह 22 और यदि आप Dhanteras date 2022 सर्च करते है तो आपको 23 October दिखाई देगा जोकि ऊपर मैंने आपको बता दिया है कि धनतेरस कब है .

धनतेरस शुभ मुहूर्त की बात करें तो इसका शुभ मुहूर्त का जो समय बन रहा है वह 23 अक्टूबर शनिवार की शाम को 05:44 से शुरू हो जायेगा और 06:05 यानी की तकरीबन 21 मिनट तक इसका शुभ मुहूर्त समय रहेगा। और यह समय काफी उत्तम माना गया है। इसलिए भूल कर भी इस समय को न गवाएं

धनतेरस का महत्व – Dhanteras Ka Mahatva

चलिए अब हम जानेंगे धनतेरस का महत्व .जैसा कि कहा जाता है मां लक्ष्मी धन की देवी हैं। धनतेरस के दिन कुबेर और मां लक्ष्मी दोनों की पूजा की जाती है। माँ लक्ष्मी की कृपा से यश, धन, सुख और समृद्धि मिलती है। मां लक्ष्मी की कृपा से भक्तों के जीवन से दुख, विघ्न और परेशानियां दूर होती हैं।

धनतेरस पूजा विधि -Dhanteras Puja Vidhi in Hindi

सनातन धर्म के अनुसार दीपावली का पर्व धनतेरस से ही आता है। आज से देवी-देवताओं की पूजा-अर्चना करने से घर में सुख, शांति, वैभव और धन की प्राप्ति होती है।

धन्वंतरि जी की धनतेरस पूजा विधि :

प्रदोष काल में धनतेरस के दिन धन्वंतरि की मूर्ति या प्रतिमा को ज़रूर स्थापित करें। उत्तर-पूर्व दिशा में धन्वंतरि जी की पूजा करने से आपको उत्तम स्वास्थ्य की प्राप्ति होती है। ऐसा कहा गया है जिसमें पहले सम्मानित गणेश के अलावा दीपोत्सव के इन पांच दिनों के दौरान संपन्न कुबेर और देवी लक्ष्मी की पूजा की आवश्यकता होती है। वहां दीया लगाने से पहले चावल या चावल को सतह पर रख दें। फिर सभी देवताओं को रोली, कुमकुम, हल्दी, गंध, अक्षत, पान, फूल, नैवेद्य या मिठाई, फल, दक्षिणा, आदि का चढ़ावा करें और दोनों हाथ जोड़ कर प्रणाम करे और कहें मुझे सभी रोगों से मुक्ति देना।

यह भी पढ़े :

Namita Sharma Success Story 5 बार UPSC में मिली असफलता फिर भी नहीं मानी हार

Diwali Kab Hai Diwali Puja Vidhi Sahi Samay

सुख समृद्दि के लिए Dhanteras Puja Vidhi :

समृद्धि के देवता कुबेर को आसुरी शक्तियों का संहारक भी माना जाता है। इस दिन शाम को कुबेर यंत्र को उत्तर दिशा में स्थापित करें, उन्हें चावल का तिलक दें, फूल चढ़ाएं, दीपक जलाएं, अर्पण करें और निचे बताये गए इस मंत्र का जाप करें

dhanteras pooja vidhi subh muhurat date time

Conclusion :

आशा करता हूँ दोस्तों आपको यह लेख काफी अच्छा लगा होगा इसमें हमने धनतेरस से सम्बंधित सभी सवालों के जबाब देने की कोशिश की है Dhanteras Puja Vidhi in Hindi,धनतेरस पूजा विधि, Dhanteras Subh Muhurat, Dhanteras ka Mahatva आदि। यदि आपका कोई सवाल है तो आप हमसे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं। हमारी इस पोस्ट को शेयर करना न भूलें जिससे यह जानकारी अधिक से अधिक लोगों तक पहुंच सके।

FAQ:

धनतेरस की पूजा का शुभ मुहूर्त कब है ?

धनतेरस का शुभ मुहूर्त 23 अक्टूबर शनिवार की शाम को 05:44 से शुरू हो जायेगा और 06:05 यानी की तकरीबन 21 मिनट तक इसका शुभ मुहूर्त समय रहेगा।

धनतेरस को क्या खरीदना चाइए ?

धनतेरस के दिन आभुषण से बने हुए बर्तन खरीदना शुभ माना जाता है और यदि इस दिन आप झाडू खरीदते है तो वह भी काफी शुभ माना जाता है।

2022 में दीपावली धनतेरस कब है ?

2022 में Diwali 24 अक्टूबर और Dhanteras 23 October को मनाया जायेगा।

धनतेरस पर कौन सी पूजा की जाती है ?

धनतेरस पर हमें माँ लक्ष्मी, गणेश जी की पूजा अर्चना करनी चाइये यदि इस दिन आप माँ लक्ष्मी जी को प्रसन्न करते है तो आपके घर में धन की कमी नहीं होगी।

धनतेरस के दिन क्या नहीं खरीदना चाइए ?

कहा जाता है है कि धनतेरस के दिन लोहे से बने बर्तन या कोई वस्तु नहीं खरीदना चाइए क्यूँकि लोहे को शनि का कारक माना गया है ऐसा करने से घर में दुर्भाग्य आता है।

मै अपने सभी पाठको का The Updated Baba में स्वागत करता हूं. यह हमारा हिंदी ब्लॉग है आपको हमारे इस ब्लॉग पर Jobs और Latest Information से जुडी जानकारी देखने को मिलेगी। कृपया अपना सहयोग बनाये रखें। धन्यवाद

2 thoughts on “Dhanteras Puja Vidhi – धनतेरस पूजा का सही समय 2022”

Leave a Comment